उड़ीसा में भाजपाई उभार के बाद मचा घमासान...

जब तक चुनाव जीतते जाते हैं, तब तक किसी को कोई बुराई नज़र नहीं आती, लेकिन जैसे ही कोई राजनैतिक चुनौती मिलती है, विवादों के पिटारे खुल ही जाते हैं. उड़ीसा में भाजपा के शानदार प्रदर्शन के बाद पटनायक की पार्टी बीजद में आंतरिक घमासान शुरू हो गया है. उड़ीसा के एक मंत्री दामोदर राउत ने अपनी पार्टी के नेताओं पर “विभीषण” होने का आरोप मढ़ दिया है. दामोदर राउत ने कहा कि बीजू जद के कुछ नेताओं ने केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को “राम” के रूप में चित्रित कर रखा है, जिसके कारण पार्टी को नुक्सान हुआ.

नहले पर दहला जड़ते हुए भाजपा के राज्य उपाध्यक्ष समीर मोहंती ने कहा कि यदि दामोदर जी की निगाह में धर्मेन्द्र प्रधान “राम” हैं और उनकी पार्टी के कुछ लोग विभीषण हैं, तो कृपया वे बताएँ कि उड़ीसा में “रावण” कौन है? मोहंती ने आगे बताया कि जो बात राउत कह नही सकते, वह ये है कि राज्य के कुछ ख़ास अधिकारी सीधे मुख्यमंत्री निवास से निर्देश प्राप्त करते हैं और मंत्रियों को कुछ नहीं समझते. कई जिलों के कलेक्टर इतने वर्षों की बीजद सत्ता के कारण मदांध हो चुके हैं और उनके लिए कोई भी मंत्री मायने नहीं रखता, क्योंकि उनका सीधा संपर्क मुख्यमंत्री से है. कुछ कलेक्टर तो बीजद के सचिव की तरह ही काम कर रहे हैं.

स्थानीय चुनावों में भाजपा के शानदार प्रदर्शन को उन्होंने जनता की जीत बताते हुए कहा कि कार्तिकेयन पांडियन, प्रदीप्त मोहपात्रा, गोपबंधु दास और सुरंजन सत्पथी जैसे वरिष्ठ अफसर बीजू जद के कार्यकर्ता के रूप में काम करते हैं, जो कि राज्य की जनता को पसंद नहीं आ रहा. मोहंती ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों तक भाजपा और मजबूत होकर उभरेगी.

Tags: desiCNN, Orissa Elections

ईमेल