ईरान के शिया आतंकियों ने मक्का पर मिसाईल दागी

कल पूरा विश्व उस समय भौंचक्का रह गया, जब ईरान स्थित शिया आतंकी संगठन “हौदी” के आतंकियों ने एक बैलिस्टिक मिसाईल मक्का की दिशा में दाग दी. सऊदी अरब ने इस कृत्य की कड़ी निंदा करते हुए इसे जुमे के रोज की गई नारकीय कार्यवाही बताया है. विश्व के तमाम बड़े नेताओं और राजदूतों ने अपने-अपने बयानों में इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण, भड़काऊ और विनाशक बताते हुए कड़ी आलोचना की है. 

यह बैलिस्टिक मिसाईल सऊदी अरब की सेना द्वारा मक्का से 65 किमी पहले ही नष्ट कर दी गई, अन्यथा हाजियों को लेकर कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था. ऐसा माना जाता है कि यमन में चल रही शांतिवार्ता को ख़त्म करने के लिए ही यह मिसाईल हमला किया गया, ताकि विश्व नेताओं का ध्यान भटके. सऊदी में भारत के राजदूत अहमद जावेद ने कहा कि एक पवित्र धार्मिक स्थल पर ईरान की भूमि से इस प्रकार का आतंकी हमला निंदनीय है. पाकिस्तान ने भी अपनी सेनाएँ सऊदी अरब भेजने की पेशकश की है. सऊदी अरब के विदेश मंत्री आदेल अल जुबेर ने कहा है कि यह शांतिवार्ता की शर्तों का साफ़ उल्लंघन है और हम ईरान के “हाऊदी” आतंकियों से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. इसी तरह शूरा कौंसिल के स्पीकर अब्दुल्ला अल अशेख ने कहा है कि ईरान सरकार के समर्थन के बिना हाऊदी संगठन इस प्रकार का कदम उठा ही नहीं सकता, और समय आने पर इसका समुचित जवाब दिया जाएगा. लगभग सभी इस्लामी देशों के प्रमुखों ने एक स्वर से हाजियों और मक्का को नुक्सान पहुँचाने की इस कार्यवाही की कड़ी निंदा की है और ईरान से भी सब्र रखने की अपील की है.


कुल मिलाकर बात यह है कि सीरिया में जहां एक तरफ शिया-सुन्नी संघर्ष अभी तक लगभग दो लाख प्राण ले चुका है, वहीं हाऊदी आतंकियों द्वारा इस संघर्ष को विश्वव्यापी बनाने की योजना चल रही है.... ये दोनों ही फिरके वर्षों से आपसी खूनी खेल में लगे हुए हैं, और इनका यह खूनखराबा दूसरे गैर-इस्लामी मुल्कों में भी पसरने का खतरा बना हुआ है. यह कल्पना करना भी मुश्किल है कि यदि यह मिसाईल समय से नष्ट नहीं की गई होती और मक्का के पवित्र स्थल पर जा गिरती तो क्या होता... 

Tags: desiCNN, Islam and Kaaba, Mecca Attack, Missile Attack on Macca Madina, Shia Sunni Conflict, Iran Missile Programme

ईमेल