बांग्ला सीमा पर 2000 के 40 नकली नोट बरामद

नोटबंदी के केवल दो माह के भीतर पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ISI ने भारत की नई करंसी अर्थात 2000 रूपए के नकली नोट तैयार कर लिए हैं. आठ फरवरी को मुर्शिदाबाद (पश्चिम बंगाल) बांग्लादेश की सीमा पर BSF द्वारा पकड़ाए अजीजुर रहमान (26) के पास से दो हजार के चालीस नोट बरामद किए गए, जो एकदम असली जैसे प्रतीत होते थे. अजीजुर रहमान पश्चिम बंगाल के मालदा का रहने वाला है जिसे नोटबंदी से पहले भी भारत में नकली नोटों का गढ़ माना जाता है. रहमान ने पूछताछ में बताया है कि उसे यह नोट पाकिस्तान के एजेंट ने “टेस्टिंग” करने के लिए बांग्लादेश में ही दिए.

जब इन नोटों की विशेषज्ञों द्वारा जांच की गई तो उनके होश उड़ गए, क्योंकि इन नोटों में असली नोटों पर जिन 17 सुरक्षा मानकों का दावा किया गया है, उसमें से 11 सुरक्षा मानक हूबहू पाए गए हैं. इन नोटों पर मंगल यान, अशोक चक्र, वाटरमार्क, 2000 का हिन्दी फॉण्ट तथा गवर्नर के हस्ताक्षर एकदम असली नोटों जैसे पाए गए हैं, जिन्हें पहचानना सामान्य व्यक्ति के बस की बात नहीं है. केवल इन नकली नोटों के कागज़ और प्रिंटिंग की क्वालिटी थोड़ी हल्की है. 28 जनवरी को भी 500 के नकली नोटों की एक खेप बांग्लादेश की सीमा से पकड़ाई थी, और वह भी जुबैर शेख नामक एक सोलह वर्षीय लड़के से.

भारत सरकार और NIA को पश्चिम बंगाल के मालदा, मुर्शिदाबाद, बर्दवान, चौबीस परगना जैसे स्थानों पर विशेष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि बांग्लादेश की सीमा इतनी घनी, नदियों-नहरों और जंगली इलाके से भरी हुई है कि इस पर पाकिस्तान सीमा की तरह फुलप्रूफ तारबंदी करना भी संभव नहीं है. सबसे बड़ी बात तो यह है कि केवल दो माह में ही ISI द्वारा 2000 के नकली नोटों की छपाई शुरू कर देना कहीं न कहीं गंभीर सुरक्षा चूक तो है ही, गद्दारों से भरे इस देश में चिंता पैदा करने वाली बात भी है...

Tags: desiCNN, Demonetization and CBI, Pakistan and Terror Links, Fake Currency in India,, Bangladesh Fake Currency

ईमेल