हाल ही में फ्रांस से खरीदे जाने वाले लड़ाकू विमान “राफेल” (Rafale Deal) की बढ़ी हुई कीमतों को लेकर विपक्षी नेता राहुल गाँधी द्वारा मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार के आरोप लगाए. लेकिन चूँकि भ्रष्टाचार के मामले में काँग्रेस की साख इतनी “बेहतरीन” है कि अब राहुल गाँधी के आरोपों पर कुछ कहना बेकार ही है. परन्तु जनता के बीच गलत सन्देश और दुष्प्रचार की पहुँच न हो... सही बात तथ्यों और तर्कों के साथ पहुँचे इसलिए यह लेख प्रस्तुत है. इसमें बिन्दुवार “तथाकथित राफेल विमान (Rafale Fighter Plane) घोटाले” के बारे में बताया गया है... आगे पढ़िए.

भारत में बांग्लादेशी घुसपैठियों (Illegal Bangladeshi) की समस्या कोई नई नहीं है, जब से बांग्लादेश को भारत ने पाकिस्तान के चंगुल से बाहर निकाला तभी से अर्थात 1971 से ही बांग्लादेशियों के जत्थे के जत्थे भारत की ढीलीढाली और तमाम नदी-नालों-जंगलों एवं आधी-अधूरी तारबंदी के कारण बड़े आराम से भारत में घुसे चले आते हैं. इन अवैध बांग्लादेशियों का सबसे पसंदीदा ठिकाना है देश की राजधानी दिल्ली, कोलकाता और मुम्बई. क्योंकि इन महानगरों के विशाल आकार तथा यहाँ मौजूद सेकुलरिज्म के पुरोधाओं एवं मुल्ला वोट बैंक के सहारे राजनीति करने वाले लोग इनकी सेवा में उपस्थित हैं.

जैसा कि अब सभी जानते हैं, पिछले कई वर्षों में NDTV के मालिक प्रणय रॉय (Prannoy Roy), सत्ता की नजदीकियों के चलते कई प्रकार के घोटालों एवं धोखाधड़ी (NDTV Frauds) में शामिल रहे हैं. NDTV कम्पनी ने न सिर्फ अपने शेयरधारकों को चूना लगाया है, बल्कि सरकारी माध्यमों और अफसरशाही का सहारा लेकर विभिन्न प्रकार के फ्राड में शामिल रही है.

जी हाँ!!! पाकिस्तान ढह रहा है. दिवालियेपन की कगार पर पहुंचा यह देश (Pakistan a Failed State) इस बुरी तरह कर्ज के भंवर में फंस गया है कि अब इससे बाहर निकलना इसके बूते से बाहर की बात है. आज की तारीख में पाकिस्तान पर लगभग 9 खरब अमेरिकन डॉलर से भी अधिक का अंतर्राष्ट्रीय कर्ज है (Debt ridden Pakistan) जिसकी तिमाही ब्याज चुकाना भी, अब इसके लिए संभव नहीं हो पा रहा.

जिस समय सारा देश भारत माता के जयगान और वन्दे मातरम के उद्घोषों से गूँज रहा था, उसी समय देश की राजधानी दिल्ली से मात्र 220 किमी दूर स्थित उत्तर प्रदेश के कासगंज (Kasganj in UP) शहर में चन्दन गुप्ता (Chandan Gupta) नाम का युवक जिसने अपने जीवन में अभी कुछ 19 बसन्त ही देखे होंगे, “भारत माता की जय” और “वन्दे मातरम” (Vandemataram) कहने का मूल्य अपने लहू से चुका रहा था.

हाल ही में केन्द्रीय शिक्षा राज्यमंत्री श्री सत्यपाल सिंह (Satyapal Singh) ने मनुष्य की उत्पत्ति से सम्बन्धित बहुप्रचलित और बहुप्रचारित “डार्विन थ्योरी” (Darwin Theory) की वैज्ञानिकता को चुनौती देते हुए अपना बयान दिया था. जिस पर भारत के कथित बुद्धिजीवियों ने बिना किसी ठोस वजह के अथवा बिना किसी तर्क-वितर्क के हंगामा मचाना शुरू कर दिया था (क्योंकि यह बयान भाजपा सरकार के मंत्री ने दिया था).

गुजरात के अहमदाबाद उर्फ कर्णावती (Ahmedabad, Karnavati) शहर में एक जामा मस्जिद है, जिसे भारत के नकली इतिहासकार यह कहकर प्रचारित करते हैं कि इसे 1452 में अहमदशाह ने बनवाया था.

लेख के पहले भाग में आपने “देवों” तथा “असुरों” के बीच का मूल अंतर, तथा भगवान् विष्णु के वराह अवतार (सूअर) (Varah Avatar) के बारे में जानकारी प्राप्त की थी (पहले भाग को पढने के लिए यहाँ क्लिक करें), इस दूसरे और अंतिम भाग में आप समझ जाएँगे कि आतंकवाद (Islamic Terror in India) और लव जेहाद (Love Jihad) का नाश करने में सूअर कितनी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है... आगे पढ़िए...

सम्पूर्ण विश्व आज आतंकवाद (Islamic Terrorism and World) से त्रस्त है। अमेरिका, ब्रिटेन, अफगानिस्तान, भारतवर्ष, ईराक, म्यांमार, के साथ-साथ सम्पूर्ण यूरोपियन देश आस्ट्रिया, पोलैंड, हंगरी, फ्रांस, बेल्जियम और न जाने कितने देश “आसुरी दैत्य वृत्तियों” (यानी इस्लाम) से घबराये हुए हैं।

समाचार पत्रों में लगातार गौरक्षा के लिए हिंसक दुर्घटना की खबरें आती रहती हैं। गौ-भक्तों द्वारा गौ-तस्करी को रोकने के प्रयासों में अक्सर हिंसक घटनाएं हो जातीं हैं। साथ ही अनेक गौ-रक्षकों का बलिदान भी ऐसी घटनाओं में हर वर्ष होता रहता है जबकि अनेक बार गौ-तस्कर भी हिंसा में मारे जाते हैं।