उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पांच चरण पूरे हो चुके हैं। सपा और कांग्रेस गठबंधन की ही नहीं तमाम लोगों की सदेच्छा थी कि यह चुनाव काम बोलता है की कसौटी पर हो।

Published in आलेख

पाकिस्तान में पैदा हुई पैंतीस वर्षीय एक औरत ताहिरा मकबूल ने अपने जीवन में पहली बार मतदान किया, वो भी भारत में. आप सोच रहे होंगे, इसमें हैरान करने वाली क्या बात है?? बात यह है कि ताहिरा मकबूल एक "अहमदिया मुसलमान" हैं.

Published in ब्लॉग

प्रिय गुरमेंहर,

नमस्कार...

पिछले कुछ ही दिनों में तुम्हारी वीडियो पोस्ट और कुछ “मीडिया हाउस”(?) द्वारा तुम्हारा इन्टरव्यू लेने के कारण तुम घर-घर में चर्चा का विषय बन गई हो, मैंने देखा कि तुम “अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का झंडा बुलंद कर रही हो और तुमने लिखा है कि तुम्हारे पिता को पाकिस्तान ने नहीं मारा, बल्कि “युद्ध” ने मारा”.

Published in आलेख

वेटिकन के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा है कि ईसाई धर्म के सर्वोच्च धर्मगुरु अर्थात पोप फ्रांसिस ने “दयालु चर्च” की छवि को बरकरार रखने के लिए इटली के एक रेवरेंड माउरो इन्जोली को बाल यौनशोषण के गुनाहों के लिए उसे चर्च से निकालने अथवा कठोर सजा देने की सलाह को ठुकरा दिया है.

Published in आलेख

भारत शासन की ओपन डोर पॉलिसी के अंतर्गत सन् 1962 में श्री वैष्णव पोलिटेक्निक महाविद्यालय, इन्दौर की स्थापना की गई थी. इस संस्था को 17.02 एकड भूमि शहर के पश्चिमी भाग में प्राइम लोकेशन पर (एम.ओ.जी.लाईन्स, महू नाका, इन्दौर) में शासन द्वारा लीज पर “केवल शैक्षणिक उपयोग हेतु” (और केवल पोलिटेक्निक हेतु) दी गई है।

Published in ब्लॉग

क्रांतिकारी वीर सावरकार का स्थान भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अपना ही एक विशेष महत्व रखता है। सावरकर जी पर लगे आरोप भी अद्वितीय थे, और उन्हें मिली सजा भी अद्वितीय थी।

Published in आलेख

रविवार की तड़के साढ़े तीन बजे पद्मनाभ स्वामी मंदिर के परिसर में भीषण आग लगी हुई देखी गई. एक मंदिर परिसर उत्तरी द्वार के पास में एक गोदाम है, जिसे भारतीय डाक विभाग पार्सल रखने के काम में लेता था और वहीं पर एक पोस्ट ऑफिस भी खोला गया था.

Published in आलेख

यदि आप किसी से कहें कि गौमूत्र बहुत लाभकारी होता है अथवा देशी गाय से उत्पन्न होने वाले पदार्थ मनुष्य के जीवन एवं स्वास्थ्य के लिए बहुत उत्तम सिद्ध होते हैं, तो इस बात की पूरी संभावना है कि पश्चिम शिक्षित और भारतीय संस्कृति को हे दृष्टि से देखने वाला सामने का व्यक्ति आपको संघी या बाबा रामदेव का चमचा घोषित कर दे.

Published in आलेख

आज भारत में मीडिया की ख़बरों को यदि देखा जाए, तो लगता है कि भारत में अल्पसंख्यकों पर बहुत अत्याचार होते हैं, तथा हिन्दू उन्हें बुरी तरह से प्रताड़ित करते हैं|

Published in आलेख

भारतवर्ष विश्व के उन समृद्ध राष्ट्रों में सबसे ऊपर हैं जिनका इतिहास वीरों की गाथाओ से भरा हुआ हैं किन्तु दुर्भाग्य से वर्तमान इतिहास लेखन में ऐसे लोगो की छाप रही हैं जिन्हें भारत से कभी प्रेम नहीं रहा

Published in आलेख