भाग - १ :- पंजाब और गोवा... 

आख़िरकार 11 मार्च 2017 का वह दिन आ ही गया, जिसका केवल भारत ही नहीं विदेशों में भी बेसब्री से इंतज़ार किया जा रहा था. देश में तो खैर बेचैनी थी ही, विदेशों में भी इन चुनाव परिणामों को लेकर कम बेचैनी नहीं थी.

Published in ब्लॉग

पाकिस्तान में सिंध के सहवान कस्बे में बम विस्फोट में 100 से अधिक लोग मारे गए। यह आत्मघाती हमला लाल शाहबाज कलंदर की दरगाह पर हुआ। लाल शाहबाज कलंदर का असली नाम सैयद मुहम्म द उस्मानन मरवंदी (1177-1275) था।

Published in आलेख

ये है असली नारी शक्ति... कर्नाटक में बंगलौर के श्रीरामपुरा इलाके में रहने वाली एक महिला हैं, नाम है चन्नम्मा. इनकी शादी 1987 में गणेश नामक एक कब्र खोदने का काम करने वाले व्यक्ति से हुई थी.

Published in आलेख

नारी जाति के विषय में वेदों को लेकर अनेक भ्रांतियां हैं। भारतीय समाज में वेदों पर यह दोषारोपण किया जाता हैं की वेदों के कारण नारी जाति को सती प्रथा, बाल विवाह, देवदासी प्रथा, अशिक्षा, समाज में नीचा स्थान, विधवा का अभिशाप, नवजात कन्या की हत्या आदि अत्याचार हुए हैं।

Published in आलेख

असम सरकार ने राज्य के सभी स्कूलों में 8वीं क्लास तक संस्कृत को अनिवार्य बनाने का फैसला किया है। हमारे देश में एक विशेष समूह है जो हमारी सभी प्राचीन मान्यताओं का हरसंभव विरोध करना अपना कर्त्तव्य समझता है।

Published in आलेख

क्या आप न्यूटन को जानते हैं?? जरूर जानते होंगे, बचपन से पढ़ते आ रहे हैं... लेकिन क्या आप स्वामी माधवन या ज्येष्ठदेव को जानते हैं?? नहीं जानते होंगे... तो अब जान लीजिए.

Published in आलेख

8 मार्च के दैनिक जागरण में आज बहुत छोटी सी एक कालम की ख़बर है। पाकिस्तानी मूल के लेखक तारिक़ फ़तेह के ख़िलाफ़ मुस्लिम समाज में ज़बरदस्त आक्रोश है। विरोध प्रदर्शनों के बाद उनके ख़िलाफ़ मंगलवार को कोतवाली देवबंद में मुक़दमा दर्ज कराया गया है।

Published in आलेख

देश का पूरा राजनैतिक विमर्श उत्तरप्रदेश पर केंद्रित है। 5 राज्यो के विधानसभा चुनाव में उत्तरप्रदेश का अपना अलग महत्त्व है। यह भी तय है कि उत्तरप्रदेश के चुनाव परिणाम देश की आगामी राजनैतिक दशा, दिशा को तय करने वाले सिद्ध हो सकते हैं।

Published in आलेख

तवलीन सिंह जानी मानी लेखिका है. 26 फरवरी, 2017 के अमर उजाला समाचार पत्र में आप पाकिस्तान की दरगाह में हुआ आंतकवादी हमले के विषय में लिखती है... "सिंध में पिछले दिनों जब शहबाज कलंदर की दरगाह पर आत्मघाती हमला हुआ, तो उस हमले के खिलाफ भारत से बहुत कम आवाजें सुनाई पड़ीं.

Published in आलेख

बचपन में चिड़िया और बहेलिया की कहानी हम सबने पढ़ी थी, जिसमें चिड़िया जाल में फँस जाती हैं, मगर अपनी एकता के बल पर बहेलिये को हराने में सफल हुई थी। अब समुद्र किनारे अयलान कुर्दी नामक बच्चे की लाश "चारा" है, "दाना" है, "चुग्गा" है.

Published in आलेख