मृत्यु एक अटल सत्य है. मृत्यु सभी को आनी है और इसे टाला नहीं जा सकता. सनातन धर्म में “पुनर्जन्म” की अवधारणा है. पुनर्जन्म के सम्बन्ध में कई बार, कई स्थानों पर जीवंत तथ्य एवं सबूत मिले हैं, जिसमें किसी बच्चे ने अपने पिछले जन्म की सभी प्रमुख घटनाओं को बाकायदा चिन्हित और लिपिबद्ध भी किया है.

Published in आलेख
न्यूज़ लैटर के लिए साइन अप करें