लगभग एक माह से अधिक होने को आया, बंगाल में इस्लामिक हिंसा और गोरखालैंड में अलग राज्य के माँग को लेकर समूचा उत्तर-पूर्व बेचैन और अशांत है. पिछले शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात को बंगाल पुलिस द्वारा तीन गोरखा प्रदर्शनकारियों को बड़ी निर्दयता से गोली मार दी.

Published in आलेख