हाल ही में ताजमहल को लेकर खामख्वाह एक विवाद पैदा किया गया कि योगी सरकार ने इसे उत्तरप्रदेश के दर्शनीय स्थलों की सूची से बाहर क्यों कर दिया. वास्तव में प्राचीन भारत की वास्तुकला को लेकर फर्जी इतिहासकारों ने भारतीयों के मनोमस्तिष्क में इतने नकारात्मक भाव भर दिए हैं कि उन्हें विदेशी आक्रान्ताओं द्वारा बनाई गयी वास्तुकलाओं और लाशों पर बने मज़ार के ऐसे भवनों में अच्छाई दिखाई देती है, जिसके निर्माण के बाद कारीगरों के हाथ काट दिए गए हों.

Published in आलेख

तेलंगाना सरकार के दोनों सदनों ने ध्वनिमत से यह प्रस्ताव पारित कर दिया है कि सरकारी नौकरियों तथा शैक्षणिक संस्थाओं में अनुसूचित जनजाति के लोगों का आरक्षण छह प्रतिशत से बढाकर दस प्रतिशत तथा मुस्लिमों के पिछड़े वर्ग का आरक्षण चार प्रतिशत से बढ़ाकर बारह प्रतिशत कर दिया जाएगा.

Published in आलेख