मित्रों क्या आप 1500 वर्ष पुराने सोमनाथ मंदिर के प्रांगण में खड़े बाणस्तम्भ की विलक्षणता के विषय मे जानते हैं? ‘इतिहास’ बडा चमत्कारी विषय है इसको खोजते खोजते हमारा सामना ऐसे स्थिति से होता है की हम आश्चर्य में पड जाते हैं! पहले हम स्वयं से पूछते हैं यह कैसे संभव है?

Published in आलेख

नेहरू कभी नहीं चाहते थे कि डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद राष्ट्रपति बनें... पता नहीं क्यों नेहरू और प्रसाद के सम्बन्ध शुरू से ही अच्छे नहीं थे. शहरी छाप वाले नेहरू ने बिहार के सीधे-सादे गँवई राजेन्द्र प्रसाद को कभी भी उचित सम्मान नहीं दिया... आगे पढ़ें...

Published in आलेख
न्यूज़ लैटर के लिए साइन अप करें