लोक सभा में एक अनोखा बिल (नं. 226/2016) विचार के लिए पड़ा हुआ है। यह संविधान की धारा 25-30 की सही व्याख्या तथा धारा 15 में गलत संशोधन को रद्द करने से संबंधित है।

Published in आलेख