कुछ दशक पहले की बात है, अलीगढ़ मुस्लिम विवि (Aligarh Muslim University AMU) में प्रोफ़ेसर इरफ़ान हबीब (Irfan Habib) ने अपने एक पूर्व छात्र और अब उसी विवि में पढ़ा रहे फैकल्टी सदस्य केके मुहम्मद (KK Muhammed) को अपने दफ्तर में बुला भेजा.

Published in आलेख