सामान्यतः आप सभी लोगों ने एक बात जरूर सुनी होगी कि न्यायतंत्र एवं संविधान के मूल सिद्धांत के अनुसार भले ही दस अपराधी छूट जाएँ परन्तु किसी निर्दोष को सजा नहीं होनी चाहिए.

Published in आलेख