झारखंड (Jharkhand) का नाम लेते ही हमारे मन में साधारणत: जनजातीय लोगों के चित्र ही मन में उभरते हैं। ऐसा मान लिया जाता है कि विकास की दौड़ में पिछड़ गए, वनों में रहने वाले जनजातीय लोगों का ही प्रदेश है झारखंड।

Published in आलेख