हाल ही में विदेश से प्रेरणा लेकर भारत में भी Me Too नामक "कथित आंदोलन" चला, जिसमें उच्च वर्ग के कई लोग शहीद हो गए... फिर जिस तेजी से यह "कथित" आंदोलन आया था, उतनी ही तेजी से गायब भी हो गया. Me Too के बारे में प्राचीन भारतीय विधान क्या हैं?? ऋषि मनु और चाणक्य ने इस बीमारी के बारे में क्या लिखा या कहा है... आगे पढ़िए... 

Published in आलेख