भारतवासियों ने आतंकी अफज़ल गूरू के समर्थन में नारे लगाने, उसे बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट और राष्ट्रपति के सामने दया याचिका लगाने वालों के “बौद्धिक गिरोह” देखे हैं. इसी प्रकार याकूब को फाँसी से बचाने के लिए यही गिरोह आधी रात को कोर्ट खुलवाने में भी पीछे नहीं रहा है.

Published in आलेख
न्यूज़ लैटर के लिए साइन अप करें