मीडिया में गुजरात के ऊना की घटना पर अपने आपको बुद्धिजीवी कहने वाली जमात हिन्दुओं को जातिवादी, अत्याचारी, मनुवादी, ब्राह्मणवादी न जाने क्या क्या कह चिल्लाई।

Published in आलेख

पिछले कुछ वर्षों से उत्तरी भारत में राजनैतिक महत्त्वाकांक्षा और देश तोड़ने की योजना के तहत दलित-मुस्लिम गठजोड़ और इनके बीच तथाकथित सामाजिक समरसता निर्माण करने के खोखले प्रयास चल रहे हैं.

Published in आलेख