मराठी में मूल लेखक : संकेत कुलकर्णी 

हिन्दी अनुवाद एवं संकलन : सुरेश चिपलूनकर

भारत की सेना सदैव गर्व करने लायक काम करती रही है. इस सेना ने कई युद्धों में तथा बहुत सी बार शांतिकाल में भी अपनी वीरता और दिलेरी के नए आयाम गढ़े हैं.

Published in आलेख
न्यूज़ लैटर के लिए साइन अप करें