भारत में बांग्लादेशी घुसपैठियों (Illegal Bangladeshi) की समस्या कोई नई नहीं है, जब से बांग्लादेश को भारत ने पाकिस्तान के चंगुल से बाहर निकाला तभी से अर्थात 1971 से ही बांग्लादेशियों के जत्थे के जत्थे भारत की ढीलीढाली और तमाम नदी-नालों-जंगलों एवं आधी-अधूरी तारबंदी के कारण बड़े आराम से भारत में घुसे चले आते हैं. इन अवैध बांग्लादेशियों का सबसे पसंदीदा ठिकाना है देश की राजधानी दिल्ली, कोलकाता और मुम्बई. क्योंकि इन महानगरों के विशाल आकार तथा यहाँ मौजूद सेकुलरिज्म के पुरोधाओं एवं मुल्ला वोट बैंक के सहारे राजनीति करने वाले लोग इनकी सेवा में उपस्थित हैं.

Published in आलेख

एक समाचार के अनुसार केन्द्र सरकार के उपक्रम नेशनल पेमेंट्स कार्पोरेशन ऑफ इण्डिया (NCPI) ने गूगल और व्हाट्सएप्प को यह अनुमति प्रदान कर दी है, कि वे अपने मोबाईल एप्प से UPI अर्थात एकीकृत भुगतान प्रणाली या कहें सरकारी मोबाईल प्लेटफार्म को समाहित कर सकते हैं.

Published in आलेख