आज के वर्तमान बांग्लादेश लेकिन अंग्रेजों के समय जो अविभाजित बंगाल था, वहाँ एक मियाँ टीटू मीर हुआ करते थे. इनके बारे में भारत के अंदर बहुत कम लोग जानते हैं, लेकिन उधर बांग्लादेश और इधर पश्चिम बंगाल में मियाँ मीर का बहुत महिमामंडन होता है.

Published in आलेख

कर्णाटक से केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े (Anant Hegde) द्वारा टीपू सुल्तान (Tipu Sultan) को अत्याचारी और बर्बर शासक बताया गया। इतिहास को निष्पक्ष होकर देखे तो पता चलता है कि टीपू सुल्तान का असली चेहरा क्या था।

Published in आलेख

मुस्लिम वोट बैंक के लिए काँग्रेस द्वारा खामख्वाह टीपू सुलतान की जयंती मनाने के भद्दे विवाद के समय प्रसिद्ध लेखक एवं कलाकार गिरीश कर्नाड ने भी अपनी कथित “सेकुलर उपयोगिता” को दर्शाने एवं अपने महामहिमों को खुश करने के लिए एक बयान दिया था कि बंगलौर के अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम केम्पेगौडा टर्मिनल से बदलकर टीपू सुलतान के नाम पर कर दिया जाना चाहिए. हालाँकि एक दिन में ही गिरीश कर्नाड को अक्ल आ गई और वे अपने बयान से पलट गए. ऐसा क्यों हुआ, यह हम लेख में आगे देखेंगे.

Published in ब्लॉग
न्यूज़ लैटर के लिए साइन अप करें