पिछले दस वर्ष के लेख गवाह हैं कि पश्चिम बंगाल के बारे में कई राष्ट्रवादी ब्लॉगर्स चेतावनियाँ जारी करते रहे, बंगाल के वामपंथी शासन में बढ़ते इस्लामी मुल्लावाद के खिलाफ जनजागरण करते रहे, सरकारों से अपीलें करते रहे, लेकिन किसी पर कोई असर नहीं हुआ.

Published in ब्लॉग
न्यूज़ लैटर के लिए साइन अप करें