गुरुवार, 27 सितम्बर 2007 16:54

"लिफ़्ट" में फ़िल्माये दो मधुर गीत

Hindi film songs in LIFT

हिन्दी फ़िल्मों ने हमें लाखों मधुर गीत दिये हैं, महान गीतकारों और संगीतकारों ने एक से बढ़कर एक गाने लिखे और निर्माता-निर्देशकों ने उन्हें अपने अनोखे अंदाज में फ़िल्माया भी है। हिन्दी फ़िल्मों में लगभग प्रत्येक अवसर, हरेक जगह और हरेक चरित्र पर गीत फ़िल्माये जा चुके हैं। जंगल, बगीचा, घर, घर की छत, डिस्को, क्लब, मन्दिर, मयखाना, तुलसी का पौधा, टेलीफ़ोन, आटो, बस, रिक्शा, तांगा.... गरज कि ऐसी कोई जगह नहीं है जहाँ फ़िल्म निर्माताओं ने गीत को फ़िल्माने का मौका हाथ से जाने दिया हो। सहज ही मुझे दो मधुर गीत याद आते हैं जो बहुमंजिला इमारत की “लिफ़्ट” में फ़िल्माये गये हैं (“लिफ़्ट” के लिये सरलतम हिन्दी शब्द की खोज में भी हूँ)।

Published in ब्लॉग